Thursday , November 26 2020

योगी सरकार ने पांच हजार से अधिक स्कूलों को बनाया ‘SMART’

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पांच हजार से अधिक स्‍कूलों को स्‍मार्ट स्‍कूलों में बदला जा चुका है। योगी सरकार ने प्राथमिक स्‍कूलों की सूरत में बदलाव ला दिया है। इसका ही परिणाम है कि पिछले तीन साल में प्राथमिक स्‍कूलों में 50 लाख छात्रों की संख्‍या बढ़ी है। मिशन प्रेरणा ई-पाठशाला से ऑनलाइन शिक्षा प्रभावी तौर स्‍कूलों में लागू हो गई है।

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने 21 सितंबर को मिशन प्रेरणा ई-पाठशाला का शुभारंभ किया था जिसके बाद जनपद स्‍तर पर इस योजना के तहत लाखों छात्र छात्राएं ऑनलाइन शिक्षा का लाभ उठा रहे हैं। कोरोना काल में भी यूपी सरकार की इस योजना के चलते बच्‍चों की शिक्षा में ब्रेक नहीं लग पाया। कक्षा एक से आठ में अध्‍ययनरत छात्र छात्राओं की पढ़ाई में अवरोध पैदा न हो इसके लिए राज्‍य सरकार की ये मुहिम रंग ला रही है।  

50 लाख से अधिक छात्रों को मिल रहा लाभ

उत्‍तर प्रदेश में 1.35 लाख परिषदीय स्‍कूलों में 1.60 करोड़ छात्र पढ़ रहे हैं। वर्तमान में मिशन प्रेरणा की ई-पाठशाला से डिजिटल मीडिया के अलग-अलग माध्‍यम से छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा का लाभ मिल रहा है। स्‍मार्टफोन, दूरदर्शन और आकाशवाणी के जरिए 50 लाख से अधिक छात्र ऑनलाइन शिक्षा प्राप्‍त कर रहे हैं। अभिभावकों और छात्रों को जागरूक करने और योजना से जुड़े संदेश अभिभावकों और छात्रों तक पहुंचाने के लिए यूपी में प्रचार प्रसार का अभियान तेजी से यूपी के जनपदों में चलाया जा रहा है। इसके लिए होर्डिंग्स, पोस्‍टर, बैनर और घर घर तक पैम्‍फलेट वितरित कर अभिभावकों को ई शिक्षा के लिए जागरूक किया जा रहा है। इसके साथ ही आशा बहू, एएनएम, और स्‍वंय सहायता समूहों के जरिए अभिभावकों व छात्रों से सीधा संपर्क साधा जा रहा है।

 तीन साल में बढ़े 50 लाख छात्र

‘पढ़ेगा इंडिया तभी तो बढ़ेगा इंडिया’ की पंक्तियों को चरित्रार्थ करते हुए यूपी सरकार द्वारा शिक्षा की दिशा में सकारात्‍मक फैसले लिए हैं जिससे शहर से ग्रामीण क्षेत्रों के स्‍कूलों में पढ़ रहे छात्रों को नई दिशा मिली है। पिछले तीन सालों में प्राथमिक स्‍कूलों में छात्रों की संख्‍यां 50 लाख तक बढ़ी है। दीक्षा के तहत अभी तक 5000 वीडियो को साइट पर अपलोड किए गए हैं। 70 लाख से अधिक क्‍यूआर कोड स्‍कैन किए गए हैं। दो करोड़ से अधिक बार कन्‍टेंट प्‍ले किया जा चुका है। मिशन प्रेरणा की लोकप्रियता तेजी से बढ़ रही है। यू ट्यूब चैनल पर एक लाख से अधिक सब्‍सक्राइबर्स, पांच लाख घंटो से अधिक वाच टाइम, 1.5 लाख से अधिक व्‍हाट्सऐप ग्रुप में प्रतिदिन सभी कक्षा के लिए विष्‍य वस्‍तु और कंटेंट अपलोड किया जाता है।

पांच हजार से अधिक स्‍कूलों को स्‍मार्ट स्‍कूलों में बदला

यूपी सरकार ने स्‍कूलों में शैक्षिक गतिविधियां शुरू होने पर हर स्‍कूल को स्‍मार्ट स्‍कूल में तब्‍दील करने की कार्ययोजना के तहत पांच हजार से अधिक स्‍कूलों को स्‍मार्ट स्‍कूलों में बदला जा चुका है। स्‍कूलों में अतिरिक्‍त कक्षाओं का निर्माण, बाउंड्रीवाल, गेट, छात्र-छात्राओं की संख्‍या के अनुरूप अलग-अलग शौचालय का निर्माण, रनिंग वॉटर की सुविधा, किचन, टाइल्‍स, हैंडवॉश फैसिलिटी, डिजिटल लर्निंग के जरिए इनको स्‍मार्ट बनाया जा रहा है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपने एक संबोधन में कहा था कि अब सरकारी स्‍कूल में कॉन्‍वेंट जैसी आधुनिक सुविधाएं यूपी में मिलेंगी। इसके साथ ही सामुदायिक सहयोग से स्‍मार्ट टीवी उपलब्‍ध कराने और दिसंबर साल 2021 तक प्रत्‍येक स्‍कूलों के सुनियोजित उन्‍नयन किए जाने की योजना शामिल है। ‘ऑपरेशन कायाकल्‍प’ के तहत 50 हजार से अधिक स्‍कूलों का कायाकल्‍प किया जा चुका है। अन्‍य स्‍कूलों में भी तेज गति से काम चल रहा है।