Monday , January 17 2022

गन्ना माफियाओं को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा – गन्ना आयुक्त

बागपत में गन्ना पर्यवेक्षक के साथ मारपीट करने एवं सरकारी अभिलेखों को क्षति पहुंचाने वाले अराजक तत्वों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने का निर्देश प्रदेश के गन्ना एवं चीनी आयुक्त संजय आर. भूसरेड्डी ने दिया है। उन्होंने कहा है कि गन्ना विकास विभाग में कार्यरत अधिकारी एवं कार्मिक निर्भीक होकर अपने दायित्यों का निर्वहन करें। किसी भी अराजक तत्व अथवा गन्ना माफिया को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

गन्ना आयुक्त ने बताया कि गन्ना समिति के बागपत के राजकीय गन्ना पर्यवेक्षक सुनील कुमार पर ढिकौली निवासी युद्धवीर सिंह पुत्र अनूप सिंह द्वारा 03 अज्ञात व्यक्तियों के साथ गन्ना समिति कार्यालय में आकर कुछ बाण्डों पर फर्जी तरीके से पेड़ी गन्ना क्षेत्रफल दर्ज कराने हेतु दबाव बनाया।

सुनील कुमार द्वारा शासकीय नियमों के विरुद्ध कार्य करने से मना करने पर युद्धवीर सिंह एवं उनके साथ आये तीन अज्ञात व्यक्तियों द्वारा सुनील कुमार के साथ मारपीट की गयी और सरकारी अभिलेखों को फाड़ दिया गया।

इस प्रकरण का संज्ञान लेते हुए प्रदेश के आयुक्त, गन्ना एवं चीनी भूसरेड्डी द्वारा जिला गन्ना अधिकारी, बागपत को दोषियों के विरुद्ध त्वरित कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया है।

एम्स के समान वेतन की मांग कर रहे लोहिया संस्थान के चिकित्सक

युद्धवीर सिंह निवासी ग्राम ढिकौली एवं अन्य 03 अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध भारतीय दण्ड संहिता 1860 अधिनियम की धारा 323, 332, 336, 427, 504, 506 के तहत कोतवाली जनपद बागपत में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।