Wednesday , May 12 2021

पुलिस के डर से लगाई कर्मनाशा नदी में डुबकी, फिर भी धोना पड़ा जान से हाथ

वाराणसी,07 अप्रैल। चंदौली जनपद के चकिया कोतवाली थाना क्षेत्र में बीती देर रात पुलिस की घेराबंदी देख गिरफ्तारी से बचने के लिए पिकप सवार तीन तस्कर कर्मनाशा नदी में कूद गये। जब तक पुलिस पुल से नदी किनारे पहुंचती तीनों की सिर में गहरी चोट के चलते मौत हो गई। तस्करों की शिनाख्त की कार्यवाही के बाद पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

चकिया कोतवाली प्रभारी अपने हमराहियों के साथ देर रात क्षेत्र में गश्त कर रहे थे। इसी दौरान उन्हें सूचना मिली की कर्मनाशा नदी के मंगरौर पुल पर भीषण जाम लगा है। पुलिस टीम पुल की ओर जा ही रही थी कि संदिग्ध पिकप वाहन को आते देख पुलिस ने उसे रूकने का इशारा किया। इस पर चालक तेज गति से वाहन लेकर मंगरौर पुल की ओर भागा। पुल पर लगे जाम में तस्करों की गाड़ी भी रूक गई। तब तक पुलिस भी वहां पहुंच गई। गिरफ्तारी से बचने के लिए तीनों तस्कर नदी में कूद गये। यह देख पुलिस और क्षेत्रीय लोग पुल से नीचे नदी के किनारे पहुंचे। पुलिस ने तीनों को नदी से निकलवाया तो दो तस्करों की मौत हो चुकी थी।

यह भी पढ़े: ‘आरआरआर’ ने रिलीज से पहले रचा बड़ा इतिहास, तोड़ दिया बाहुबली का रिकार्ड

वहीं एक तस्कर की सांसे चलती देख पुलिस तीनों को लेकर तत्काल चकिया संयुक्त चिकित्सालय पहुंची। कुछ देर इलाज चलने के बाद तीसरे तस्कर ने भी दम तोड़ दिया। मृत तस्करों की पहचान जौनपुर निवासी दीपक (28),चकिया घुरहूपुर निवासी बाढू (25) पुत्र रामविलास,चंद्रकेश पुत्र श्रीनिवास के रूप में हुई। पुलिस ने पिकप वाहन सहित उस पर लदे आठ पशुओं को भी अपने कब्जे में ले लिया।