Sunday , November 29 2020

राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर पहले लगाया था आरोप, अब कर दिया साबित

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड सांसद राहुल गांधी केंद्र की सत्तारूढ़ मोदी सरकार के खिलाफ लगातार हमलावर नजर आ रहे हैं। बीते दिनों राहुल गांधी ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर आरोप लगाया था कि यह सरकार पूंजीपतियों को बढ़ावा दे रही और और गरीबों का शोषण कर रही है। शनिवार को राहुल गांधी ने कुछ मीडिया रिपोर्ट को हथियार बनाकर इन आरोपों को और हवा दी है।

वायनाड सांसद राहुल गांधी ने मीडिया रिपोर्ट को बनाया हथियार

दरअसल, शनिवार को अपने एक ट्वीट में राहुल गांधी ने एक खबर का स्क्रीन शॉट लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला। अपने इस ट्वीट में उन्होंने लिखा कि मोदी सरकार आम लोगों को नहीं बल्कि बड़े कारोबारियों को आगे बढ़ाने का काम कर रही है। इस ट्वीट में वायनाड सांसद ने जिस खबर का स्क्रीन शॉट ट्वीट किया है, उसमें लिखा है कि इस साल अडानी की संपत्ति 1.41 लाख करोड़ बढ़ी है। इसे ट्वीट करते हुए राहुल गांधी ने लिखा, इससे साफ होता है कि सरकार किसका विकास करने में लगी हुई है।

इसके अलावा एक अन्य ट्वीट में राहुल गांधी ने ब्लूमबर्ग बिलियनेयर इंडेक्स ने एक रिपोर्ट का स्क्रीन शॉट शेयर किया है। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि बिजनेसमैन गौतम अडानी इस साल सबसे ज्यादा कमाई करने वाले भारतीय हैं। रिपोर्ट कहती है कि इस साल के शुरुआती साढ़े 10 महीनों में गौतम अडानी की संपत्ति 1.41 लाख करोड़ रुपए बढ़ी है। उनकी संपत्ति एक दिन में 449 करोड़ रुपए बढ़ी। अडानी ने इस साल रिलायंस के मुकेश अंबानी से भी ज्यादा कमाई की है। इस साल मुकेश अंबानी की संपत्ति में 1.21 लाख करोड़ का इजाफा हुआ है। अपने इस ट्वीट के साथ राहुल गांधी ने सवाल किया है और अडानी के विकास के पीछे मोदी सरकार का हाथ बताया है।

हाल ही में रिपोर्ट आई थी कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद अडानी की संपत्ति 230 फीसदी बढ़ी है। इसको लेकर भी राहुल ने तीखा हमला केंद्र पर बोला। 16 नवंबर को वायनाड सांसद ने एक न्यूज रिपोर्ट के स्क्रीनशॉट को ट्वीट के साथ शेयर किया था। जिसमें बताया गया है कि 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से अब तक गौतम अडानी की संपत्ति में 230 फीसदी का इजाफा हुआ है। अडानी की संपत्ति 26 अरब डॉलर के पास है। इसे शेयर करते हुए आम लोगों से राहुल ने सवाल किया कि अडानी की 230 फीसदी बढ़ी और आपकी?

यह भी पढ़ें: नगरोटा एनकाउंटर: मिल गया वो रास्ता जिससे आतंकियों ने किया था भारत में घुसपैठ