Thursday , November 26 2020

नगरोटा एनकाउंटर: पाकिस्तान की काली करतूत का पर्दाफाश , भारत ने उठाया सख्त कदम

बीते दिनों जम्मू-कश्मीर में हुए नगरोटा एनकाउंटर के बाद अब भारत ने पाकिस्तान पर नकेल कसना शुरू कर दिया है। दरअसल, इस एनकाउंटर के बाद मारे गए आतंकियों का पाकिस्तान कनेक्शन सामने आने के बाद विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारी को दिल्ली में तलब किया है। नगरोटा एनकाउंटर में मारे गए आतंकियों के पास से बरामद चीजों से पाकिस्तान कनेक्शन का खुलासा हुआ था।

नगरोटा एनकाउंटर में सामने आया पाकिस्तान कनेक्शन

मिली जानकारी के अनुसार, मारे गए आतंकियों के पास से पाकिस्तानी कंपनी का एक डिजिटल मोबाइल रेडियो बरामद हुआ है। इस रेडियो के माध्यम से ये आतंकी पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं से बातचीत करते थे। उन दोनों के बीच में क्या बात हुई थी, इस बात की जानकारी भी इस मोबाइल रेडियों के जरिये हुई है।

बताया जा रहा है कि आतंकियों के इन पाकिस्तानी आकाओं ने मोबाइल रेडियो पर मैसेज कर यह बताया था कि कहां पहुंचना है। क्या माहौल है। कोई मुश्किल तो नहीं है। इस मामले में जांच करने वाली एजेंसी को शक है कि ये मैसेज पाकिस्तान के शकरदढ़ से भेजा गया था। 

यह डिजिटल मोबाइल रेडियो पाकिस्तानी कंपनी माइक्रो इलेक्ट्रॉनिक्स काबताया जा रहा है। डिजिटल मोबाइल रेडियो पर मैसेज से पता चलता है कि घुसपैठ करने वाले आतंकी सीमा पार अपने आकाओं के कॉन्टैक में थे। साथ ही आतंकवादियों के जूते भी पाकिस्तान कनेक्शन की गवाही देते हैं। आतंकियों ने जो जूते पहने थे वो कराची में बने थे। इसके अलावा एक वायरलेस सेट और एक जीपीएस डिवाइस भी बरामद किया गया था।

यह भी पढ़ें: फ्रांस ने पाकिस्तान से लिया अपने राष्ट्रपति के विरोध का बदला, दिया बहुत बड़ा झटका

आपको बता दें कि नगरोटा एनकाउंटर में मारे गए इन आतंकियों का सम्बन्ध जैश-ए-मोहम्मद से थे। इस ट्रक में भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद हुआ है। बताया जा रहा है कि ये बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे। नगरोटा एनकाउंटर के एक दिन बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक हाईलेवल बैठक भी बुलाई थी। इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, एनएसए अजित डोभाल, विदेश सचिव के साथ सभी खुफिया एजेंसियों के आला अधिकारी मौजूद रहें।