Thursday , November 26 2020

फ्रांस ने पाकिस्तान से लिया अपने राष्ट्रपति के विरोध का बदला, दिया बहुत बड़ा झटका

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लगातार मुश्किलों का सामना कर रहे पाकिस्तान को अब फ्रांस ने एक बड़ा झटका दिया है। दरअसल, फ्रांस ने पाकिस्तान की उस मदद को दरकिनार कर दिया है, जिसमें पाकिस्तान ने अपने मिराज फाइटर जेट, एयर डिफेंस सिस्टम और अगोस्टा 90बी पनडुब्बियों को अपग्रेड करने के लिए फ्रांस से मदद मांगी थी। फ्रांस के इस फैसले से पाकिस्तान को करारा झटका लगा है। इसके पहले यूएई ने पाकिस्तान को नए वीजा देने पर अस्थायी रोक लगा दी थी। यह फैसला फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों को माना जाना जा रहा है

इमैनुअल मैक्रों ने पाकिस्तान की मांग को ठुकराया

मिली जानकारी के अनुसार, फ्रांस ने फैसला किया है कि वह पाकिस्तान के मिराज-3 और मिराज-5 फाइटर जेट को भी अपग्रेड नहीं करेगा। फ्रांस के इस फैसले के पीछे की वजह अभी बीते दिनों पाकिस्तान में हुए फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शन को माना जा रहा है। फ्रांस के इस फैसले को पाकिस्तान से लिए गए बदले के रूप में भी देखा जा रहा है।

पाकिस्तान के पास बड़ी संख्या में फ्रांस की फर्म दसौल्ट एविएशन के मिराज फाइटर जेट हैं। अब इनमें से आधे ही काम करने के लायक हैं। इसी वजह से पाकिस्तान ने फ्रांस से मदद मांगी थी।

फ्रांस ने केवल खुद मदद करने से इनकार नहीं किया है, उसने क़तर से भी पाकिस्तान की मदद न करने की अपील की है। फ्रांस ने कतर से कहा है कि वो पाकिस्तानी मूल के टेक्नीशियन्स को अपने फाइटर जेट पर काम ना करने दे। फ्रांस ने कहा है कि वे फाइटर के बारे में तकनीकी जानकारी पाकिस्तान को लीक कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: जिसने दी थी बाबरी मस्जिद का बदला लेने की धमकी, हमेशा के लिए हो गया खामोश

वहीं ये फाइटर जेट भारत के डिफेंस की भी सबसे अहम कड़ी हैं। इसके अलावा पहले भी पाकिस्तान चीन के साथ संवेदनशील जानकारियां शेयर करता रहा है। बता दें कि पाकिस्तान पिछले कई दशकों से मिराज फाइटर जेट खरीदता रहा है। वहीं पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में इनकी मरम्मत भी की जाती है। इसके अलावा फ्रांस की ओर से पाकिस्तान की फ्रेंच-इटालियन एयर डिफेंस सिस्टम को भी अपग्रेड करने के अनुरोध को ठुकरा दिया गया है।