Monday , January 17 2022

अखिलेश ने भी उठाया जातीय जनगणना का मुद्दा, बीजेपी सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले जातीय जनगणना को लेकर केंद्र की सत्तारूढ़ मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर बनी हुई है। अभी बीते दिन जहां बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने बीजेपी सरकार को आड़े हाथों लिया था। वहीं, अब समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी यह मुद्दा उठाते हुए सरकार पर हमला बोला है।

अखिलेश यादव ने किया ट्वीट

दरअसल, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को एक ट्वीट किया और कहा कि बीजेपी सरकार ने लम्बे समय से चली आ रही ‘ओबीसी’ समाज की गणना की मांग को ठुकरा कर साबित कर दिया है कि वो ‘अन्य पिछड़ा वर्ग’ को गिनना नहीं चाहती है। उन्होंने आरोप लगाया है कि बीजेपी ओबीसी को जनसंख्या के अनुपात में उनका हक़ नहीं देना चाहती है। धन-बल की समर्थक बीजेपी शुरू से ही सामाजिक न्याय की विरोधी है।

इससे पहले गुरुवार को बीजेपी को घेरते हुए अखिलेश यादव ने कहा था कि यूपी सरकार गाय, गंगा और गड्ढे के मामले में फेल है। प्रदेश में अगले साल कई अन्य राज्यों के साथ फरवरी-मार्च में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। आम लोगों की बीजेपी से काफी नाराजगी है और इस वजह से सपा को 400 सीटें मिलने जा रही हैं।

यह भी पढ़ें: गैंगेस्टर जितेंद्र की हत्या से पहले रोहिणी कोर्ट पहुंचा था टिल्लू, उसी की गैंग से जुड़े थे हमलावर

गौरतलब है कि जातीय जनगणना पर उत्तर प्रदेश की बड़ी पार्टियों का रुख सरकार के विपक्ष में ही है। इसमें बसपा के बाद सपा भी शामिल हो गयी है।