Friday , December 3 2021

श्री शिरडी साईं धाम पर डेढ़ वर्ष पूर्व आए संकट के बादल छटे

डेढ़ वर्ष पूर्व श्री शिरडी साईं धाम पर आए संकट के बादल के बाद साईं बाबा अब अपने घर में धूमधाम के साथ परशुराम चौक के निकट विराजमान हुए। इस उपलक्ष्य में श्री शिरडी साईं बाबा सेवा समिति ऋषिकेश द्वारा 26 नवंबर से मंदिर के प्रांगण में दो दिवसीय धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

यह जानकारी समिति के अध्यक्ष अशोक थापा, उपाध्यक्ष विजेंद्र गौड़, महामंत्री वेद प्रकाश धींगरा, कोषाध्यक्ष दिनेश कुमार शर्मा ने संयुक्त रूप से पत्रकारों को देते हुए बताया कि पिछले डेढ़ वर्ष पूर्व उच्च न्यायालय द्वारा मंदिर के निर्माण कार्य को लेकर लगाई गई आपत्ति और कोरोना काल के चलते समिति द्वारा मंदिर में स्थापित साईं बाबा की मूर्ति को हटाकर अन्यत्र स्थान पर अस्थाई रूप से पूजा अर्चना के लिए रखा गया था। अब समिति द्वारा परशुराम चौक के निकट अपनी भूमि क्रय कर मंदिर का निर्माण कर दिया गया है। जहां साईं बाबा की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा विधि विधान के साथ धूमधाम से की जा रही है।

महिलाएं एकजुट होकर कार्य करें तो बदल सकती हैं जीवन : सिद्धार्थनाथ सिंह

इस क्रम में समिति द्वारा प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव का आयोजन किया गया, जिसमें 26 नवंबर को साईं ज्ञानेश्वरी पाठ के साथ गणेश पूजन त्रिवेणी घाट से कलश यात्रा और बाबा की विशाल पालकी नगर में निकाली जाएगी।उसके बाद मंदिर के मंडप में पालकी का प्रवेश होगा और उसकी पूजा की जाएगी। इस दौरान राकेश जुनेजा गुरुग्राम अंजलि थापा द्वारा साईं भजन का आयोजन किया गया है। 27 नवंबर को दिल्ली के विख्यात सक्सेना बंधुओं द्वारा भजनों की प्रस्तुति दी जाएगी और तदोउपरांत मंदिर में साईं मूर्ति का महा स्नान एवं पूर्णाहुति व्हाट आरती के बाद आम जनता के लिए दर्शनों के लिए मंदिर को खोल दिया जाएगा।