Monday , January 17 2022

पंजाब विधानसभा चुनाव में बीजेपी के खिलाफ उतर सकते हैं किसान, कुलवंत सिंह संधू ने दिया बड़ा बयान

पंजाब किसान संगठन के नेता कुलवंत सिंह संधू ने बड़ा बयान दिया है। संधू ने कहा है कि धरना प्रदर्शन खत्म होने के बाद किसान साझा मंच बनाकर पंजाब विधानसभा चुनाव में उतर सकते हैं। पहली बार में किसी किसान नेता ने चुनाव में उतरने की बात कही है। अगले साल की शुरुआत में पंजाब समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होना है।

किसान नेता कुलवंत सिंह संधू ने कहा, ज्यादातर किसान चाहते हैं कि धरना खत्म करके राज्यों में जाना चाहिए। वहां चुनाव लड़ना चाहिए। अपनी बाकी की मांग पूरी करने के लिए आवाज उठानी चाहिए। एक जगह बैठकर बीजेपी को हराया जाना संभव नहीं है। पांच राज्यों में हमें बीजेपी को हराना है। बीजेपी हार जाएगी तो बहुत सी मांगे हमारी पूरी हो जाएगी।

आंदोलन खत्म करने के सवाल पर कुलवंत सिंह संधू ने कहा, 4 दिसंबर को हमारी अहम बैठक है। अगर हमारी सहमति बन गई तो धरना खत्म हो जाएगा। चुनाव लड़ने की रणनीति पर धरना खत्म होने के बाद विचार किया जाएगा। सभी किसान संगठन मिलकर भी चुनाव लड़ सकते हैं।

‘विरोध-प्रदर्शन में किसानों की मौत का कोई डेटा नहीं, फिर मुआवजे का सवाल कैसा?’ संसद में बोली सरकार

बता दें, तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का विधेयक संसद में पारित भी हो गया है। एक साल से चल रहे आंदोलन में अब किसानों के बीच आंदोलन खत्म करने को लेकर अलग-अलग राय सामने आने लगी है। किसानों का एक धड़ा आंदोलन खत्म करने को लेकर अगुवाई कर रहा है तो कुछ नेता अपनी अन्य मांगों पर आंदोलन को जारी रखना चाहते हैं। 4 दिसंबर को एसकेएम (संयुक्त किसान मोर्चा) की बैठक होगी। इसके बाद आगे की रणनीति पर फैसला लिया जाएगा।