Sunday , November 29 2020

दिल्ली में कोरोना से भरे हुए 90 फीसदी आईसीयू बेड, लोगों को सावधान रहने की जरुरत

राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस (Corona virus) के लगातार बढ़ते कहर के बीच उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण दिल्ली में 90 फीसदी आईसीयू बेड भरे हुए हैं। उन्होंने बताया कि केंद्र ने इसे संज्ञान में लेते हुए 750 आईसीयू बेड (ICU Bed) भेजने आदेश दिया है। सिसोदिया के मुताबिक 250 आईसीयू बेड की पहली खेप जल्द ही उपलब्ध हो जाएगी।

खबरों के मुताबिक राजधानी में 26 हजार कोरोना संक्रमित लोग होम आइसोलेशन में हैं। दिल्ली में 16 हजार कोरोना बेड है। इससे खतरा और बढ़ गया है। वहीं सिसोदिया ने लॉकडाउन पर बोलते हुए कहा कि दिल्ली सरकार का लॉकडाउन लगाने का कोई इरादा नहीं है। लॉकडाउन कोरोना से लड़ने का उपाय नहीं है। इससे लड़ने का एकमात्र उपाय मेडिकल मैनेजमेंट है। अभी दिल्ली में 26 हजार लोग होम आइसोलेशन में हैं। हमारे पास 16000 बेड हैं जिनमें से 50% बेड खाली हैं।

यह भी पढ़ें: छठ पूजा को लेकर दिल्ली सरकार से भिड़ी बीजेपी, केजरीवाल को बताया नमकहराम

दरअसल कोरोना ने दिल्ली में एक बार फिर से रफ़्तार पकड़ी है, जिसके चलते लोग दिल्ली में फिर से लॉकडाउन लगाये जाने की कयास लगा रहे है। बाजारों में मिनी लॉकडाउन लगाने के कयास पर उपमुख्यमंत्री ने दुकानदारों से कहा कि मैं दुकानदारों को आश्वस्त करना चाहता हूं, उन्हें डरने की जरूरत नहीं है। हम लॉकडाउन लगाने का इरादा नहीं रखते हैं। हम चाहते हैं कि आपकी दुकानें खुली रहें, यदि जरूरत हो, तो कुछ बाजारों को सील किया जा सकता है, जिसका प्रस्ताव केंद्र को भेजा गया है, लेकिन यह किसी भी तरह से लॉकडाउन नहीं होगा।