Friday , December 3 2021

उप्र परिवहन निगम ने ऑनलाइन टिकटिंग के लिए नए सेवा प्रदाता से किया अनुबंध

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (रोडवेज) ने यात्रियों को पूर्णतया कम्प्यूटरीकृत एवं ऑनलाइन टिकटिंग प्रणाली उपलब्ध कराने के लिए एक नए सेवा प्रदाता से पांच वर्ष का अनुबन्ध किया है। इससे यात्रियों को रोडवेज बसों में अब सुगम और पारदर्शी टिकट व्यवस्था उपलब्ध हो सकेगी।

परिवहन निगम के जनसंपर्क अधिकारी अनवर अन्जार ने बुधवार को बताया कि यात्रियों को पूर्णतया कम्प्यूटरीकृत एवं ऑनलाइन टिकटिंग प्रणाली उपलब्ध कराने के लिए नए सेवा प्रदाता से पांच वर्ष के लिए अनुबन्ध किया गया है। चयनित नए सेवा प्रदाता ओरियन प्रो ट्रांजिट साॅल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड मुम्बई द्वारा आधुनिक तकनीक के हार्डवेयर और इंफ्रास्ट्रक्चर अपने व्यय पर बस टिकटिंग और सीटों के आरक्षण के लिये उपलब्ध करायी जायेगी। नए सेवा प्रदाता इसके लिए परिवहन निगम मुख्यालय पर एक कमांड सेन्टर स्थापित कर बसों के संचालन, पर्यवेक्षण और नियंत्रण की सुविधा देंगे। विभिन्न प्रकार के टिकट वितरण एवं विक्रय राशि के मिलान की सुविधा ऑनलाइन मोड द्वारा वेब, मोबाइल एप्लीकेशन, ट्रान्जेक्शन पेमेन्ट गेट-वे और एसएमएस गेट-वे सेवा प्रदाता द्वारा उपलब्ध करायी जायेगी।

उन्होंने बताया कि परिवहन निगम मुख्यालय के साथ डिपो और क्षेत्रीय स्तर पर सेवा प्रदाता द्वारा तकनीकी सपोर्ट सम्पूर्ण परियोजना काल में उपलब्ध करायी जायेगी। सेवा प्रदाता द्वारा उपलब्ध करायी गयी बस टिकटिंग मशीनों से यूरो, मास्टर, वीसा के मानक अनुसार सुरक्षित ट्रान्जेक्शन का लाभ भी यात्रियों को उपलब्ध कराया जायेगा। जन सामान्य को इस आधुनिक टिकटिंग व्यवस्था के अन्तर्गत नकद भुगतान द्वारा टिकट क्रय की व्यवस्था के साथ डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, स्मार्ट कार्ड और क्यूआर कोड आधारित यूपीआई मोड से बस टिकट प्राप्ति की बहु प्रतिक्षीत व्यवस्था शुरू की जायेगी।

जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि शीघ्र ही भारत सरकार की अपेक्षा अनुरूप ‘वन नेशन वन कार्ड’ कार्यक्रम के अन्तर्गत एक ही कार्ड द्वारा विभिन्न परिवहन साधनों की सुविधा भी यात्रियों को मिलेगी। इस कार्य के लिए केंद्र सरकार की नामित संस्था नेशनल पेमेन्ट काॅर्पोरेशन ऑफ इण्डिया परियोजना की समिति में पूर्णकालिक भागीदारी कर रही है। यात्रियों को मोबाइल एप द्वारा बस टिकटिंग सुविधा के साथ प्रमुख सेवाओं की समय सारिणी, बस सेवाओं की उपलब्धता और बस स्टेशनों पर सुविधाओं की जानकारी भी मिल सकेगी। यात्रियों को इस व्यवस्था द्वारा एमएसटी और ओपन स्मार्ट कार्ड भी परिवहन निगम के बस काउन्टरों से भुगतान करने पर बिना किसी प्रतीक्षा के उपलब्ध हो सकेंगे।

भावी पीढ़ी स्वाधीनता के गुमनाम नायकों की भूमिका को भी जाने : रामनाथ कोविंद

उन्होंने बताया कि सेवा प्रदाता परिवहन निगम की वेबसाइट से संबद्ध ऑनलाइन बस टिकटिंग के साथ-साथ अन्य निजी क्षेत्र के प्रतिष्ठित टिकट एजेन्टों को भी व्यवस्था में संयोजित करेगा। चयनित सेवा प्रदाता आने वाले तीन महीनों में लखनऊ एवं गाजियाबाद में इन कार्यों को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर पूर्ण करेगा। इसके बाद परिवहन निगम के सभी क्षेत्रों में इसका विस्तार किया जाएगा।