Wednesday , May 12 2021

तृणमूल की जीत के साथ बंगाल में शुरू हो गया ममता का खेला, बदस्तूर जारी है हिंसा

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने चुके हैं, जिसमें ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस ने पूर्ण बहुमत के साथ जीत हासिल की है। हालांकि ममता की इस जीत के साथ ही सूबे में हिंसक घटनाएं काफी तेज हो गई है। यहां तृणमूल कांग्रेस के समर्थन लगातार बीजेपी समर्थकों और बीजेपी कार्यालयों को निशाना बना रहे हैं। मीडिया खबरों के अनुसार, नतीजों के बाद शुरू हुई हिंसा में अबतक चार लोगों की मौत हो चुकी है।

तृणमूल समर्थकों ने जमकर मचाया उत्पात

मिली जानकारी के अनुसार, बीते दिन विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद शुरू हुई हिंसा सोमवार को भी बदस्तूर सोमवार को भी जारी है। आज तृणमूल समर्थकों ने नंदीग्राम में भी जमकर बवाल किया और बीजेपी के दफ्तर में तोड़फोड़ की कोशिश की। इसके अलावा दफ्तर को आग के हवाले करने की कोशिश की गई।

बीजेपी ने आरोप लगाया है कि ये सब तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने किया है। सिर्फ बीजेपी के दफ्तर ही नहीं, बल्कि यहां पर कई दुकानों और घरों में तोड़फोड़-आगजनी की गई है। बीजेपी का आरोप है कि तोड़फोड़ के बाद जब पुलिस मौके पर पहुंची तो हंगामा करने वाले भाग गए। इस घटना के बाद नंदीग्राम बाजार इलाके में तनाव बढ़ गया है।

आपको बता दें कि बंगाल में भले ही तृणमूल कांग्रेस की जीत हुई हो, लेकिन नंदीग्राम में खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चुनाव हार गई हैं। ममता बनर्जी को भारतीय जनता पार्टी के शुभेंदु अधिकारी ने चुनाव हराया है।

रविवार से लेकर अबतक बंगाल में हिंसा के बाद चार लोगों की मौत हो गई है। इसमें दक्षिण 23 परगना, नदिया में बीजेपी के कार्यकर्ता, वर्धमान में टीएमसी और उत्तर 24 परगना मंक ISF के कार्यकर्ता की जान चली गई है।

यह भी पढ़ें: मीडिया को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया बड़ा फैसला, चुनाव आयोग को दिया तगड़ा झटका

बीती रात को कोलकाता के उल्टाडांगा इलाके में एक बीजेपी कार्यकर्ता को पीटकर मारे जाने का आरोप है। इसके अलावा दक्षिण 24 परगना के सोनारपुर में भी एक बीजेपी कार्यकर्ता की मौत हो गई है, आरोप है कि तृणमूल कार्यकर्ताओं की पिटाई से बीजेपी कार्यकर्ता की मौत हुई है। इन सबके बीच पश्चिम बंगाल बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष आज 4:00 बजे राज्यपाल को चुनाव बाद हिंसा के बारे में ज्ञापन सौंपेंगे।