Monday , October 25 2021

संपत्ति के लालच में बेटों ने की बुजुर्ग मां की हत्या, फिर किया खुदखुशी साबित करने का प्रयास

बिहार के बिहारशरीफ जिले के लहेरी थाना क्षेत्र के भरावपर मोहल्ले में बुधवार को बेटों ने बुजुर्ग मां की रस्सी से गला घोंटकर हत्या कर दी। घटना के बाद आरोपितों ने हत्या को खुदकुशी साबित करने का प्रयास भी किया।

मां की हत्या के बाद से फरार हैं दोनों बहुएं

मृतका गंगा महतो की 70 वर्षीया पत्नी रामसखी देवी हैं। मंसूर नगर निवासी मृतका की बेटी और दामाद आनंदी कुमार ने साला दयानंद प्रसाद और संजय कुमार पर हत्या का आरोप लगाया। संपत्ति में बेटियों को हिस्सा देने के संदेह में वारदात का आरोप है। हत्या के खुलासा के बाद दोनों बहू फरार हो गईं, जबकि मौके पर मौजूद बेटे घटना को खुदकुशी बता रहे हैं। दोनों पुत्रों के बयान और मौजूद साक्ष्यों में विरोधाभास है। साक्ष्यों से हत्या के आरोप को बल मिल रहा है।

पुलिस लिखित शिकायत का इंतजार कर रही है। शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लाया गया। मृतका को दो पुत्र और तीन बेटियां है। सभी शादीशुदा हैं। दामाद व बेटियों ने बताया कि दोनों बेटे मां को प्रताड़ित करते थे। इस कारण बेटियां मां की देखरेख करने अक्सर आती थी। इस कारण दोनों भाइयों को लगा कि मां, बेटियों को संपत्ति में हिस्सा दे देगी। बुजुर्ग मां, छत पर किसी काम से आई थी। उसी दौरान रस्सी से गला घोंट उसकी हत्या कर दी गई। मृतका का भरावपर करीब पौन कट्ठा में मकान और रामचंद्रपुर में कुछ भूमि

दोनों पुत्र और बहू बुजुर्ग के साथ अक्सर मारपीट करते थे। तीन माह पहले भी पुत्रों ने मां की पिटाई की थी। इसके बाद बेटियों ने घटना की शिकायत पुलिस से की। बेटों के माफी मांगने पर बेटियों ने शिकायत वापस ले लिया था।

मृतका के बेटी-दामाद ने बताया कि जिस छत के कमरे में फांसी लगाने की बात कही जा रही है। उस कमरे के छत की ऊंचाई इतनी नहीं है कि कोई फांसी पर लटक सके। इसके अलावा कपड़ा सुखाने की पुरानी पतली रस्सी पर कोई इंसान लटक नहीं सकता। लटकने से रस्सी टूट जाएगी। इसके अलावा अगर कोई फांसी लगाएगा तो रस्सी का निशान कंठ के ऊपर होगा, जबकि बुजुर्ग मृतका के कंठ के नीचे रस्सी का गहरा, गोल निशान है।

यह भी पढ़ें: हाईकोर्ट ने मिथुन चक्रवर्ती को दी राहत, भड़काऊ भाषण मामले में सुनाया बड़ा फैसला

थानाध्यक्ष सुबोध कुमार ने बताया कि लिखित शिकायत मिलने पर केस दर्ज कर पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है। उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत का कारण स्पष्ट हो जाएगा। दामाद ने बताया कि हत्या के बाद दोनों बेटों ने घटना को खुदकुशी साबित करने का प्रयास किया। बेटियों को फोन कर बताया गया कि मां ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। सूचना के बाद बेटी-दामाद घर पहुंचे। शव छत के फर्श पर पड़ा था। दोनों पुत्रों ने बताया कि कि छत के कमरे में मां ने फांसी लगा ली।