Tuesday , June 22 2021

कोरोना संकट के बीच राजनाथ की नई पहल, हज हाउस बन गया कोविड अस्पताल

लखनऊ: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) और उत्तर प्रदेश राज्य सरकार तथा स्थानीय प्रशासन  के सहयोग से हज हाउस, लखनऊ में निर्मित 255 बिस्तरों वाले कोविड अस्पताल के संचालन की शुरुआत की। अस्पताल के उद्घाटन के अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे।

राजनाथ ने की योगी सरकार की तारीफ़

इस अवसर पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में राज्य सरकार के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि एचएएल और राज्य सरकार के स्थानीय अधिकारियों के बीच घनिष्ठ सहयोग ने अस्पताल के निर्माण को संभव बनाया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महामारी के खिलाफ लड़ाई में लगातार सहयोग के लिए केंद्र सरकार को धन्यवाद दिया।

एचएएल-यूपी कोविड अस्पताल के सभी 255 बेड ऑक्सीजन सुविधाओं से सुसज्जित हैं। 130 बेड ऑक्सीजन से लैस हैं वहीं 100 बेड एचएफएनसी  सुविधा से जुड़े  हैं जबकि 25 बेड में वेंटिलेटर सपोर्ट है। अस्पताल में प्रारंभिक ऑपरेशन के लिए राज्य सरकार और एचएएल के बीच घनिष्ठ सहयोग के माध्यम से 150 ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था की गई है।

राज्य सरकार ने आश्वासन दिया है कि अस्पताल चलाने के लिए सभी आवश्यक आपूर्ति उपलब्ध कराई जाएगी। अस्पताल में सबसे अच्छी आधुनिक चिकित्सा सुविधा है। इस अस्पताल का  9 मई, 2021 को  जिलाधिकारी, लखनऊ, अभिषेक प्रकाश, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, लखनऊ और एचएएल लखनऊ,  महाप्रबंधक की उपस्थिति में ड्राई रन सफलतापूर्वक आयोजित किया गया था और ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए थे। अस्पताल का प्रबंधन लखनऊ जिला प्रशासन द्वारा किया जाएगा।

राजनाथ सिंह ने अपनी एक दिवसीय यात्रा के दौरान लखनऊ के अवध शिल्पग्राम में रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा निर्मित 505 बिस्तर वाले अटल बिहारी वाजपेयी कोविड अस्पताल के संचालन की समीक्षा की। उन्होंने अस्पताल का अवलोकन किया और विश्व स्तर की सुविधाओं को देखा। उन्होंने सशस्त्र बलों द्वारा रोगियों को प्रदान की जा रही विशेषज्ञ चिकित्सा देखभाल का जायजा लिया। इस  अस्पताल में देश भर से आए  सशस्त्र बलों के चयनित डॉक्टरों और चिकित्सा कर्मचारियों द्वारा नागरिकों चिकित्सा सुवधाएं उपलब्ध कराई जा रही है।

रक्षा मंत्री ने चिकित्सा कर्मचारियों के साथ बातचीत की और उनकी धैर्य और निस्वार्थ सेवा की सराहना की।  इस अवसर पर मध्य कमान के  जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ लेफ्टिनेंट जनरल वाई डिमरी ने कोविड के खिलाफ लड़ाई में भारतीय सेना की मध्य कमान द्वारा निभाई जा रही बहुपक्षीय भूमिका के बारे में बताया जिसकी रक्षामंत्री ने उन कई कदमों की सराहना की, जिन्होंने राज्यों में मौजूदा चिकित्सा क्षमताओं और संसाधनों को बढ़ाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

यह भी पढ़ें: भारत-श्रीलंका के बीच कोलंबो में होगा क्रिकेट का महासंग्राम, मिली बड़ी जानकारी

राजनाथ सिंह ने अटल बिहारी वाजपेयी कोविड अस्पताल के कामकाज पर संतोष व्यक्त किया।कोविड के खिलाफ लड़ाई को मजबूत करने और रिकॉर्ड समय में कोविड अस्पतालों के सफलतापूर्वक संचालन में सशस्त्र बलों, डीआरडीओ और राज्य सरकार के बीच समन्वय की सराहना की ।