Wednesday , May 12 2021

रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वाला आरोपी कोरोना संक्रमित, थाने में मचा हड़कंप

कानपुर, 16 अप्रैल। जनपद में कोरोना संक्रमण का दायरा दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है, जिन लोगों की जांच कराई जा रही उनमें अधिकांश कोरोना पॉजिटिव आ रहे हैं। इसी कड़ी में जेल भेजने से पहले कोरोना इंजेक्शन रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वाले तीनों आरोपितों की कोरोना जांच कराई गई। जांच रिपोर्ट के अनुसार इनमें से प्रशांत शुक्ला पॉजिटिव पाया गया और पॉजिटिव होने की जानकारी पर थाना में हड़कंप मच गया। इसके साथ ही थाना के तीन सिपाहियों और एक दारोगा में लक्षण मिलने पर जांच कराई गई है। ऐसे में अब प्रशांत को छोड़कर सभी को जिला कारागार भेजा जा रहा है।

संपर्क में आने वाले पुलिसकर्मियों में मचा हड़कंप, तीन सिपाही और एक दारोगा की कराई गई जांच

बाबूपुरवा थाना क्षेत्र में गुरुवार की देर शाम सेना के खुफिया विभाग की जानकारी पर पुलिस खाद्य एवं औषधि विभाग की टीम ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया था। इनके पास से कोरोना जीवन रक्षक इंजेक्शन रेमडेसिविर के 265 वायल बरामद हुए थे। पुलिस के अनुसार यह लोग इंजेक्शन की कालाबाजारी में संलिप्त थे। गिरफ्तार हुए आरोपियों में मोहित सोनी और प्रशांत शुक्ला कानपुर के नौबस्ता थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं तो वहीं सचिन कुमार हरियाणा के यमुनानगर का रहने वाला है। तीनों से पुलिस ने कड़ी पूछताछ की और रात में पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने भी पूछताछ की।

यह भी पढ़ें: चैत्र नवरात्र के चौथे दिन मां कुष्मांडा के दरबार में भक्तों ने लगाई हाजिरी, टेका मत्था

इसके बाद शुक्रवार को तीनों को जेल भेजने की तैयारी की गई, लेकिन जेल भेजने से पहले तीनों की कोरोना जांच कराई गई, जिसमें प्रशांत शुक्ला कोरोना पॉजिटिव निकल आया। प्रशांत के कोरोना पॉजिटिव होने से थाना में खलबली मच गई और जो-जो पुलिसकर्मी तीनों आरोपियों के संपर्क में रहे अपने को असहज महसूस करने लगे। आलाधिकारियों के निर्देश पर आरोपियों के संपर्क में रहने वाले तीन सिपाहियों और एक दारोगा की कोरोना की जांच कराई गई और उन्हे एकांतवास में रहने के लिए कहा गया।