Friday , December 3 2021

कोरोना व जीका से बचाने के लिए भारत और न्यूजीलैंड के क्रिकेटरों की होगी बायो-बबल सुरक्षा

वैश्विक महामारी कोरोना के भले ही केस शहर में न के बराबर हों, लेकिन जीका वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता ही जा रहा है। ऐसे में भारत और न्यूजीलैंड के बीच शहर में होने वाले टेस्ट मैच को लेकर प्रशासन और पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये हैं, ताकि कोई भी खिलाड़ी किसी के संपर्क में न आ सके और न ही कोई प्रशंसक खिलाड़ियों से मिल सकेगा। इसके लिए एयरपोर्ट, होटल से लेकर ग्रीनपार्क स्टेडियम तक खिलाड़ियों की बायो-बबल सुरक्षा रहेगी।

कानपुर के एतिहासिक स्टेडियम ग्रीनपार्क में 25 नवंबर से भारत बनाम न्यूजीलैंड का टेस्ट मैच होगा। ऐसे में खिलाड़ियों को जीका वायरस और कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए खास इंतजाम किए गए हैं। लैंडमार्क होटल से लेकर ग्रीनपार्क तक खिलाड़ियों को बायो-बबल सुरक्षा घेरे में रखा जाएगा। होटल से स्टेडियम की दूरी 1.7 किमी की है। इस दौरान दो चरणों में पुलिस के 1800 जवान सुरक्षा मे रहेंगे। कानपुर पुलिस कमिश्नर ने बीसीसीआई के मानकों के मुताबिक सुरक्षा प्लान तैयार कर लिया है।

कानपुर पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने बताया कि ग्रीनपार्क में होने वाले टेस्ट मैच में आने वाले खिलाड़ियों की सुरक्षा का खाका खींच लिया गया है। 16 नवंबर से कानपुर में क्रिकेट टीम के सदस्यों का आना शुरू हो जाएगा और 22 नवंबर को इंडिया और न्यूजीलैंड की टीमें कानपुर पहुंचेंगी। खिलाड़ियों को होटल से लेकर स्टेडियम तक बायो-बबल सुरक्षा घेरे में रखा जाएगा।

जम्मू-कश्मीर में एक्टिव हैं 97 आतंकी, खात्मे के लिए सुरक्षा एजेंसियों ने उठाया ये बड़ा कदम

किसी के संपर्क में नहीं आएंगे खिलाड़ी

पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने बताया कि बायो-बबल सुरक्षा को देखते हुए ग्राउंड में इस तरह की सुरक्षा तैयार की जा रही है कि कोई भी दर्शक ग्राउंड तक नहीं पहुंच सके। इसके लिए स्टेडियम के भीतर चौतरफा जाल लगाया जा रहा है। पुलिस फोर्स का भी एक घेरा स्टेडियम के अंदर रहेगा। इससे खिलाड़ी किसी भी प्रशसंक के संपर्क में नहीं आ सकेगा।