Wednesday , January 20 2021

श्री गुरु नानक देव जी का 551 वां प्रकाश पर्व 30 नवंबर को, बदला रहेगा आयोजन का स्वरूप

लखनऊ। श्री गुरु नानक देव जी का 551 वां प्रकाश पर्व 30 नवंबर को मनाया जाएगा। लेकिन इस बार आयोजन का स्वरूप बदला जा रहा है। ऐतिहासिक गुरुद्वारा श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी यहियागंज के सचिव मनमोहन सिंह हैप्पी ने बताया कि कोविड-19 महामारी के चलते  आयोजन में इस बारी प्रमुख बदलाव किए गए हैं।

यह भी पढ़ें: स्नातक चुनाव: टीचर/कर्मचारी कह रहे अब वही एमएलसी बनेगा जो पुरानी पेंशन बहाली की बात करेगा

यह भी पढ़ें: इस दिन लगेगा साल का अंतिम चंद्र ग्रहण, जानिए ग्रहण का समय

बदला रहेगा आयोजन का स्वरूप

उन्होंने कहा कि करोना की स्थिति को देखते हुए काफी जरूरी था हालांकि गुरु पर्व के मौके पर  ऐतिहासिक गुरुद्वारा साहिब में संपूर्ण समागम पूर्व की तरह आयोजित किया जाएगा। इस अवसर पर गुरुद्वारा साहिब को फूलों एवं लाइटों से सजाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस समय महामारी का दौर चल रहा है। ऐसे में हम सभी की जिम्मेदारी है कि संक्रमण को फैलने से रोकने में अपना सहयोग दें।

यह भी पढ़ें: गोपाष्टमी आज, गाय और बछड़ों की करें उपासना, बढ़ेगा सुख-सौभाग्य

इस अवसर पर 29 नवंबर की शाम एवं 30 नवंबर को प्रातः से देर रात तक  समागम  का आयोजन किया जाएगा इस आयोजन में भाई गुरदेव सिंह जी कोहाडका श्री दरबार साहिब अमृतसर से एवं प्रिंसिपल जगजीत सिंह जाचक गुरमत विद्यालय श्री रकाब गंज साहिब से कथा कीर्तन द्वारा संगतों को निहाल करेंगे। 30 नवंबर की रात्रि 1:00 बजे श्री गुरु ग्रंथ साहब जी के ऊपर गुलाब के फूलों से फूलों की वर्षा की जाएगी। कथा कीर्तन का सीधा प्रसारण फेसबुक एवं यूट्यूब चैनल द्वारा  किया जाएगा।

इस दौरान कोविड नियमों का  पूरी तरह से पालन करना सुनिश्चित किया गया है गुरुद्वारा साहिब में सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा जाएगा एवं निगरानी के लिए सेवादार तैनात रहेंगे साथ ही गुरुद्वारा साहब में सैनिटाइजर की पर्याप्त व्यवस्था कर दी गई है सभी को कोविड-19 निर्देशों का सख्ती से पालन करने की हिदायत दी गई है साथ ही लोगों से अपील की जा रही है कि वह भी अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुए नियमों का पालन करें।