Wednesday , September 30 2020

बिजली उपभोक्ता ने आत्मदाह का प्रयास किया

लखनऊ। मोहनलालगंज में गलत बिजली बिल और चेक मीटर न लगने से परेशान उपभोक्ता ने बुधवार को अधिशासी अभियंता कार्यालय में डीजल डालकर आत्मदाह का प्रयास किया। इससे पूरे परिसर में हड़कंप मच गया। किसी तरह अन्य लोगों ने उपभोक्ता से माचिस छीन ली। आनन-फानन विभाग ने कर्मचारियों को भेजकर उपभोक्ता के घर में चेक मीटर लगवाया। वहीं अधिशासी अभियंता ने उपभोक्ता के खिलाफ थाने में तहरीर दी है।


पीजीआई के हैवतमऊ मवइयां निवासी कमल किशोर के पिता सुखलाल के नाम गोविन्दपुर में पांच हार्स पावर का ट्यूबवेल कनेक्शन है। कमल ने बताया कि पिछले कई महीनों से ट्यूबवेल का बिल अधिक आ रहा था। कई बार शिकायत की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। पिछले महीने फाल्ट के कारण लगभग 10 दिन बिजली की सप्लाई ठप रही। इसके बावजूद 11 अगस्त से 9 सितंबर तक का बिल 14,892 रुपये आ गया।

बाबू मांग रहा था तीन हजार रुपये
कमल ने बताया कि चेक मीटर लगवाने व बढ़े हुए बिल को दुरुस्त करने के लिये अधिशाषी अभियंता के यहां गुहार लगाई। अभियंताओं ने उसे बाबू के पास भेज दिया। पीड़ित का आरोप है कि बाबू बिल दुरुस्त करने व चेक मीटर लगाने के बदले तीन हजार रुपये की मांग कर रहा था।

सुनवाई न होने पर आत्मदाह का प्रयास किया
कमल किशोर अपने वकील भाई नंद किशोर के साथ बुधवार को अधिशासी अभियंता कार्यालय पहुंचा। हालांकि इस दौरान अधिशासी अभियंता मौजूद नहीं थे। पीड़ित बाबू के पास गया, लेकिन बाबू ने बिल जमा करने के बात कही। इससे कमल आक्राशित हो गया और अपने ऊपर डीजल डालकर आत्मदाह का प्रयास किया।