Thursday , May 26 2022

यूपी चुनाव से पहले बीजेपी विधायक ने अखिलेश यादव से की मुलाकात, सपा ने पेश किया बड़ा दावा

उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले नेताओं के दलबदल का दौर देखने को मिल रहा है। इसी क्रम में इस बार सीतापुर के बीजेपी विधायक राकेश राठौर ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात कर दियासी गलियारों में हलचल पैदा कर दी है। अखिलेश यादव और बीजेपी विधायक के बीच हुई इस मुलाक़ात को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। इस मुलाकात की तस्वीर भी जमकर वायरल हो रही है।

बीजेपी विधायक ने अपनी सरकार के खिलाफ जताई थी नाराजगी

बीजेपी विधायक और अखिलेश यादव के बीच हुई इस मुलाक़ात के बाद सपा के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि बीजेपी के 100 से अधिक विधायक पार्टी के संपर्क में हैं और पार्टी अध्यक्ष से मिलने का समय चाहते हैं।

बीजेपी विधायक राकेश राठौर ने अपनी पार्टी में एक अप्रिय टिप्पणी की थी, जब उन्होंने लगभग तीन महीने पहले कहा कि वह अपनी पार्टी की सरकार के खिलाफ देशद्रोह के आरोप में बुक होने के डर से बोलने की हिम्मत नहीं करेंगे। राठौर सीतापुर से ओबीसी (अन्य पिछड़ा वर्ग) के नेता हैं।

बीजेपी विधायक ने इससे पहले एक सरकारी अधिकारी से बातचीत में अपनी नाराजगी जाहिर की थी जब उन्होंने कहा था कि एक विधायक के तौर पर वह अपने लोगों की मदद नहीं कर सकते। बातचीत का ऑडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था।

55 वर्षीय राठौर ने हिंदी में कहा कि हम ज्यादा बोलेंगे तो देशद्रोह, राजद्रोह हम पर भी तो लगेगा। उन्होंने सुझाव दिया कि विधायक सरकार के सामने बहुत कम खड़े होते हैं जब उन्होंने सवाल किया, विधायकों की हैसियत क्या है? (विधायकों की स्थिति क्या है)?

यह भी पढ़ें: दिलीप घोष ने तृणमूल सरकार पर मढ़े गंभीर आरोप, ममता के मंत्री को दी ख़ास सलाह

भारतीय जनता पार्टी ने अखिलेश यादव के साथ राठौर की मुलाकात पर आधिकारिक रूप से कोई टिप्पणी नहीं की। हालांकि, पार्टी के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा कि कुछ विधायक ऐसे हैं जो गैर-निष्पादक रहे हैं। अब वे 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए टिकट नहीं मिलने से आशंकित हैं और इसलिए चरागाहों की तलाश कर रहे हैं। राठौर उनमें से एक हैं। राठौर ने बैठक पर कोई टिप्पणी नहीं की।